शुक्रवार, 19 अक्तूबर 2018

कुछ खास शब्दों के शब्दार्थ

कुछ खास शब्दों के शब्दार्थ
पिक क्रेडिट - pixabay
सेल : 
किसी चीज को उसकी कीमत से दुगने दामों में खरीदने का तरीका।

अधेड़ावस्था :
1. जब मेहनत में आनन्द नहीं रहता और "आनन्द " मेहनत लगने लगता है।
2. जब आप बुजर्गों को कोसना बंद करके बच्चों को कोसना शुरू कर देते हैं।
3. जब आप बस में सफर करते समय किसी महिला को सीट देने के लिए उठाना चाहते हैं, लेकिन उठ नहीं पाते।
4. जब आप अपना नाम भूलने लगते हैं, फिर सूरतें भूलने लगते हैं, फिर टायलेट में पतलून की जिप बंद करना भूलने लगते हैं, फिर जिप खोलना भूलने लगते हैं।
5. जब आपके स्कुल के सहपाठी इतने पिलपिले और खलवाट हो जाते हैं कि वो आपकी सूरत नहीं पहचानते।
6. जब महिलाओं के बाल सफेद से काले होने लगते हैं।

किशोरावस्था :
वो उम्र जिस में बच्चे को अभी ये कबूल करना गवारा नहीं होता कि एक दिन वो भी अपने जैसा ही अहमक साबित होगा।

संगमरमर :
कई आदमियों के साथ-साथ मरने की प्रक्रिया।

धोखा :
आपको आया ऐसा पोस्टकार्ड जिस पर लिखा हो "चैक सलंग्न है।"

आदर्श पुरुष :
विधवा का पहला पति 

अलार्म घड़ी :
एक ऐसा उपकरण जो उन लोगों को सोते से जगाने के काम आता है, जिनके बच्चे नहीं होते।

अवसरवादी व्यक्ति : 
जो दुर्घटनावश तलब में गिर पड़े तो नहाने लगे।

दुनिया का सबसे कमीना आदमी :
जो अपनी पत्नी को तब अपनी नसबंदी की बात बताता है जब पत्नी उसे अपने गर्भवती होने की बात बताती है।

सॉस की बोतल :
जिसको बार-बार झटकने पर भी पहले तो कुछ बाहर नहीं निकलता और जब निकलता है तो पीछे कुछ भी नहीं बचता।

बैंक लोन  :
जो एक कड़के को दुसरे कड़के की इस ग्यारंटी पर मिलता है कि वो कड़का नहीं है।

कॉलेज एज्युकेशन :
एक ऐसा साधन जो आपको ऐसे शख्स की नौकरी करने का अवसर प्रदान करता है जो कभी स्कूल भी नहीं गया।

जनाना अस्पताल :
वह जगह जहाँ लोग पैदा होने जाते हैं।

गलती :
इस बात का सबूत कि आपने किसी काम को अंजाम देने की कम से कम कौशिश तो की।

मौत :
अनिद्रा का अचूक इलाज।

भीड़ :
दो औरतें।

अस्पताल का कमरा :
ऐसी जगह जहाँ मरीज के रिश्तेदार अपने बाकि रिश्तेदारों से मिलने जाते हैं।

संगीत प्रेमी :
ऐसा शख्स जो बाथरूम में नहाती युवती के गाने की आवाज सुनता है तो चाबी के छेद से कान लगा लेता है।

मुर्गी :
जिसके जरिये अंडा और अंडा बनता है।

पैदल यात्री :
वो कार स्वामी जिसकी बीवी कार चलाना सीख गई हो।

कबाड़ :
ऐसा सामान जिसे आप दस साल तक सम्भाल कर रखते हैं और जिस की जरूरत उस दिन महसूस करते हैं जिस से एक दिन पहले आप उसे कबाड़ी को बेच चुके होते हैं।

पड़ोसन :
जो पौने घंटे तक अड़ोसन की चौखट पर खड़ी बतियाती रहती है क्योंकि उसके पास भीतर आने को टाइम नहीं है।

अब :
ऐसा कोई शब्द नहीं होता क्योंकि जब आप अब कहते हैं तब तक वो तब बन जाता है।

ओ टर्न :
यु-टर्न लेते वक्त अगर महिला ड्रायवर का ख्याल बदल जाये तो जो टर्न वो लेती है।

अहमक :
1. जो गंजे नाई से बाल उगाने वाला तेल खरीदता है।
2. जिसे ऐसे शब्द का मतलब नहीं आता जिस का मतलब आप ने कल सिखा है।

खुबसूरत औरत :
दीद की जन्नत! रूह का जहन्नुम! दौलत का दीवाला!


हंसते रहिये विद्वानों का कहना है, हंसने से आदमीं स्वस्थ रहता है। अगर आपको मेरा प्रयास अच्छा लगा तो फेसबुक पेज लाइक कीजिये ताजा अपडेट पाने के लिए। धन्यवाद!
Reactions:

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

अगर आपको हंसाने का मेरा प्रयास सफल रहा हो, तो प्यारी सी टिप्पणी जरुर कीजिये।